हरियाणा में कुछ जिलों में डेयरी लोन के लिए आवेदन को बंद कर दिया गया है।

अभी तक प्राप्त हुए समाचार के अनुसार हरियाणा के दादरी भिवानी तथा सिरसा जिलों में डेयरी लोन के लिए आवेदन को बंद कर दिया गया है। विभाग की साइट को खोलने पर इन जिलों में आवेदन ना होने के बारे में बताया गया है।

डेयरी लोन के आवेदन कुछ जिलों में बंद होने का मुख्य कारण

डेयरी लोन के लिए आवेदन बंद होने का मुख्य कारण इन जिलों में चरखी दादरी भिवानी तथा सिरसा शामिल है इनमें आवेदन जरूरत से ज्यादा होने के कारण सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि अब इन जिलों में और आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। सरकार ने प्रत्येक जिले के लिए जितना लक्ष्य रखा था उस लक्ष्य सहित आवेदन अधिक मात्रा में आने पर यह निर्णय लिया गया है। जिन व्यक्तियों ने समय रहते यह आवेदन कर दिया था सिर्फ वही इस योजना का लाभ ले पाएंगे।

चरखी दादरी भिवानी तथा सिरसा जिलों के अलावा अन्य जिलों के जो भी व्यक्ति इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं वह भी जल्द से जल्द अपना आवेदन करवाने क्योंकि बाद में बाकी जिलों में भी यह समस्या आ सकती है।

यह सूचना विभाग की साइट पर दिखाई जा रही है आने वाले समय में इसमें सुधार भी किया जा सकता है।

पशुपालन लोन लेने के लिए क्या-क्या डॉक्यूमेंट चाहिए उसकी लिस्ट –

  • आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • बैंक पासबुक फोटो कॉपी(Bank Passbook Photo Copy)
  • पासपोर्ट साइज फोटो (Passport size Photo)
  • पशुओं के रखरखाव और चरागाह आदि के लिए जमीन की नकल (Land Copy)
  • पशु होने का प्रमाण पत्र (Animal Proof)
  • आय प्रमाण पत्र (Income certificate)

हरियाणा सांझी डेयरी योजना 2023 के माध्यम से सरकार नागरिकों को पशु पालन करने के लिए लोन उपलब्ध कराएगी। इस योजना के माध्यम से प्रदेश सरकार पशुपालकों को ₹700000 तक का ऋण उपलब्ध कराएगी। इसके अलावा जिन पशुपालकों के पास पशु बांधने के लिए जगह नहीं है उन्हें ग्राम पंचायत की जमीन पर पशु बांधने के लिए शेड की सुविधा दी जाएगी

यह योजना पहले भी चल रही थी। जिसके तहत पशु खरीदी और डेयरी ईकाई स्थापित करने के लिए 5 लाख रुपए लोन दिया जा रहा है। नई योजना के तहत यह राशि 12 लाख रुपए कर दी गई। 25 % मिलने वाली सब्सिडी बढ़ाकर 50 प्रतिशत कर दी गई है

यदि आप छोटा डेयरी फॉर्म खोलना चाहते हैं तो, आप अपने नजदीकी बैंक में जाकर भी जानकारी हासिल कर सकते हैं। बैंक में जाने के बाद आपको सब्सिडी फॉर्म को भर कर उसमें अप्लाई करना होगा। आवेदक लोन की राशि बड़ा होने पर व्यक्ति को, नाबार्ड में अपनी प्रोजेक्ट रिपोर्ट को जमा करवाना होगा।

डेयरी फार्म के लिए किसान को किस काम के लिए कितना मिल सकता है लोन ऑटोमेटिक मिल्क कलेक्शन सिस्टम के लिए अधिकतम 10,0000 रुपए तक का लोन आप ले सकते हैं। मिल्क हाउस /सोसायटी ऑफिस के लिए न्यूनतम लोन राशि 20,0000 रुपए तक लिया जा सकता है। मिल्क ट्रांसपोर्ट व्हीकल के लिए अधिकतम 30,0000 रुपए तक लोन मिल सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *